Internet kya hai, इन्टरनेट क्या है इंटरनेट के फायदे और नुकसान विस्तार से

दुनिया भर में फैले हुए एकाकी कंप्यूटरों का जाल इंटरनेट कहलाता है जिसके माध्यम से सूचनाओं तथा आंकड़ों का आदान-प्रदान किया जाता है इंटरनेट को अंग्रेजी में अंतरजाल कहते हैं Internet kya hai, इन्टरनेट क्या है इंटरनेट के फायदे और नुकसान विस्तार से इस पोस्ट के माध्यम internet Kya Hai in Hindi चर्चा किया जायेगा |

Internet kya hai, इन्टरनेट क्या है इंटरनेट के फायदे और नुकसान विस्तार से
Internet kya hai, इन्टरनेट क्या है इंटरनेट के फायदे और नुकसान विस्तार से

इंटरनेट क्या है What is Internet in Hindi 

Internet Kya Hai : इंटरनेट सूचना तकनीकी की महत्वपूर्ण आधुनिक प्रणाली है जिसके अंतर्गत वैश्विक स्तर पर असंख्य कंप्यूटर आपस में एक दूसरे से जुड़े होते हैं इंटरनेट किसी कंपनी या सरकार के नियंत्रण में नहीं होता है बल्कि बहुत सारे सर्वर के माध्यम से जुड़े होते हैं जो अलग-अलग प्राइवेट कंपनियां जैसे गोफर (Gofer) फाइल ट्रांसफर प्रोटोकॉलत्रंफेर (file transfer Protocol) वर्ल्ड वाइड वेब (World Wide Web) इत्यादि के माध्यम से जानकारियां प्राप्त होती है 

जो की वैश्विक स्तर पर विज्ञापन का माध्यम कह सकते हैं तथा उत्पाद के बारे में विश्व स्तर पर सर्वेक्षण के लिए सबसे सस्ता और आसान माध्यम है विभिन्न रिपोर्ट जैसे लेख कंप्यूटर आदि को प्रदर्शित करने का बहुत उपयोगी साधन है इंटरनेट की जो संरचना होती है मुख्य रूप से ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System) पर निर्भर करता है चाहे लाइनेक्स हो या सर्वर हो दोनों का इंटरकनेक्टेड सरवर और क्लाइंट बेस्ड होता है |

इंटरनेट का संक्षिप्त इतिहास History of Internet 

  • प्रारंभिक दौर 1969 ईस्वी में इंटरनेट का प्रयोग सर्वप्रथम अमेरिका के सेना विभाग में किया गया था जो की प्रथम संचार नेटवर्क अर्पानेट (ARPA net) :- ADVANCED RESEARCH PROJECT AGENCY (एडवांस्ड रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी) के नाम से विकसित किया गया जो की चार कंप्यूटरों को आपस में जोड़ कर बनाया गया था और यहीं से इंटरनेट का दौर प्रारंभ होता है
  • 1972-73 ईस्वी में इसका विस्तार तीव्र गति से हुआ इंग्लैंड और नॉर्वे जैसे देश में इसका विकास हुआ 1974 ईस्वी में जन सामान्य के उपयोग में लाया गया जिसे टेलनेट के नाम से जाना जाता था |
  • इस प्रोटोकॉल को (TCP/IP transmission Control protocol/Control protocol ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकोल/इंटरनेट प्रोटोकॉल) के नाम से जाना जाता है 1990 ईस्वी में अर्पनेट को समाप्त कर नेटवर्क ऑफ नेटवर्क यानी कि नेटवर्क का नेटवर्क इंटरनेट बनाया गया वर्तमान समय में इंटरनेट के माध्यम से असंख्य कंप्यूटर आपस में एक दूसरे को इंटरकनेक्ट करते हैं तथा VSNL विदेश संचार निगम लिमिटेड, भारत में इंटरनेट की सुविधा प्रदान करती है |

इंटरनेट कार्य कैसे करता है :-

  • इंटरनेट की नेटवर्किंग प्रणाली में एक कंप्यूटर सर्वर बाकी सभी क्लाइंट बेस्ड कार्य करते हैं जो अलग-अलग क्षमताओं के साथ असेंबल किए जाते हैं और इस सर्वर के अंतर्गत सभी प्रकार के सूचनाओं को स्थापित किए जाते हैं और सर्वर के माध्यम से ही आंकड़ों का स्थानांतरण किया जाता है इंटरनेट के प्रारंभिक दौर में इंटरनेट का प्रयोग सुरक्षा और शिक्षा के कार्य क्षेत्र में किया जाता था 
  • जैसे कि उदाहरण से समझते हैं वेब सर्वर Web Server क्या है इंटरनेट जो कंप्यूटर में वेब पेज या वेबसाइट को स्टोर करके लाइव करता है उसे हम वेब सर्वर कहते हैं जब भी हम किसी सर्च बार में जाकर सर्च करते हैं तो उसका रिजल्ट तत्काल फाइंड आउट करके डिस्प्ले के माध्यम से हमको रिजल्ट मिल जाता है
  • इसका तात्पर्य यह है कि को 24 * 7 हॉर्स लाइव रखने के लिए बड़ी-बड़ी कंपनियों से हमें सर्वर यानी कि डोमेन पर्चेज करना होता है ताकि हमारा कंटेंट जिस वेबसाइट पर अपलोड होता है वह 24 घंटा बिना किसी रूकावट के लाइव किया जा सके जैसे की अति विश्वसनीय कंपनी होस्टिंगर है |

इंटरनेट के फायदे Advantages of internet :-

इंटरनेट के प्रारंभिक दौर यह केवल वैज्ञानिकों और सैनिकों के लिए ही उपयोग में लाया जाता था परंतु 1974 ई के आसपास यह आमजन सामान्य व्यक्तियों के हाथो में दिया गया परंतु भारत में इसका सर्वप्रथम प्रयोग 1995 ईस्वी में किया गया और इंटरनेट निरंतर विकास की दौड़ में इतनी तीव्र गति से विकसित हुआ है कि हमारे जीवन शैली का महत्वपूर्ण पहलू बन चुका है, जिसके बिना मानव जीवन असंभव हो चुका है इंटरनेट प्रारंभिक दौर में सिर्फ सूचनाओं का आदान-प्रदान करने के लिए ही सीमित था परंतु वर्तमान में इंटरनेट के माध्यम से अपने कुछ कामों को छोड़कर बाकी सभी कार्य घर बैठे ही निपट सकते हैं जैसे :-

ऑनलाइन बिल का भुगतान :-

नेट बैंकिंग या क्रेडिट कार्ड या विभिन्न प्रकार के बैंकिंग क्षेत्र द्वारा प्रदान की गई सुविधाओं के माध्यम से बिजली का बिल, टेलीफोन का बिल, डीटीएच का बिल, गैस का बिल,इत्यादि का भुगतान इंटरनेट के माध्यम से घर बैठे आसानी से भुगतान कर देते हैं |

सूचनाओं का आदान-प्रदान :-

  • यदि तुलना करें पहले के समय की वर्तमान से तो किसी भी प्रकार की सूचना को भेजने के लिए परपत्र और कहावतें जैसे कई तरकीब का उपयोग किया जाता था परंतु उसकी कोई गारंटी नहीं होती थी की सूचना सही समय पर सही व्यक्ति को प्राप्त होगा या नहीं,
  • परंतु वर्तमान समय में इंटरनेट की दुनिया में कुछ ही सेकंड या कुछ ही नैनो सेकंड की बात होती है और सूचना सही समय पर सही व्यक्ति को आसानी से भेजा या प्राप्त किया जा जाट है जैसे इंटरनेट पर वॉइस कॉल, वॉइस मैसेज, ईमेल, वीडियो कॉल, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग,इत्यादि के माध्यम से सूचनाओं का आदान-प्रदान किया जाता है और यह सब इंटरनेट के माध्यम से ही संभव हो पता है |

ई-कॉमर्स के क्षेत्र में (Internet Kya Hai)

वर्तमान समय में इंटरनेट प्रणाली इतना मजबूत हो चुका है कि ई-कॉमर्स यानी की व्यापारिक क्षेत्र में सुई से लेकर हेलीकॉप्टर तक के वस्तुओं का खरीद और फ़रोख्त आसानी से इंटरनेट की ऑनलाइन सुविधा से कर सकते हैं, इसका परिणाम समय और लागत की बचत होती है और उद्योगजगत में उत्पादों और उपभोक्ताओं के मध्य एक ऐसा सामजस्य स्थापित किया गया है कि आप थोड़े से पढ़े लिखे हैं तो जन्विन तरीके से आप ऑनलाइन क्रय-बिक्रय कर सकते हैं

आधिकारिक सूचना प्राप्ति (Internet Kya Hai)

अधिकारी सूचना से किसी भी देश के सरकार के द्वारा बनाई गई रणनीति को कुछ ही मिनट में आमजन मानस तक पहुंचाने में इंटरनेट का महत्वपूर्ण भूमिका होती है चाहे किसी प्रकार का योज हो या अध्यादेश हो सरकारी स्कूली छात्रो का परीक्षा परीण+अम हो या किसी प्रकार का इमरजेंसी सुचना क्यो न हो |

शैक्षिक क्षेत्र में (Internet Kya Hai)

शैक्षिक क्षेत्र में इंटरनेट के माध्यम से बीते पिछले दशक में ताबड़तोड़ क्रांति आयी जिसके अंतर्गत शैक्षिक क्षेत्र में प्राइवेट स्कूलों और कोचिंग संस्थानों के द्वारा वसूल से सामान्या अभ्यर्थियों  को राहत मिली है क्योंकि इंटरनेट के जरिये कई ऐसे माध्यम हैं जिससे कि विद्यार्थियों को मनचाहा स्किल डेवलप करने के लिए कम पैसे तथा बिना ट्रैवल और समय बेस्ट किया ही घर पर ही इंटरनेट के माध्यम से संभव हो पता है |

बैंकिंग क्षेत्र में (Internet Kya Hai)

बैंकिंग क्षेत्र में इंटरनेट की बात करें तो बेहतरीन उदाहरण सर्वर और क्लाइंट का काम बेहतरीन उदाहरण है बैंकिंग सेक्टर में इंटरनेट की महत्वपूर्ण भूमिका होती है जो कि इंटरनेट का विकास ही व्यक्ति को बैंक में जाकर भीड़ जमा करना और अपने एक छोटे से कार्य के लिए पूरे दिन लाइन में लगे रहना तथा समय की बर्बादी करना इन सबसे लोगों को ऑनलाइन बैंकिंग नेट बैंकिंग फोन पे, गूगल पे, भारत पे, पेटीएम, इत्यादि बैंकों के द्वारा ऐसी सुविधा प्रदान की गई हैं जिससे समय और मेहनत की बचत करके आसानी से अपने कार्यों को कर सकते हैं |

Internet kya hai, इन्टरनेट क्या है इंटरनेट के फायदे और नुकसान विस्तार से
Internet kya hai, इन्टरनेट क्या है इंटरनेट के फायदे और नुकसान विस्तार से

रेलवे के क्षेत्र में (Internet Kya Hai)

इंटरनेट के माध्यम से ही रेलवे क्षेत्र का संचालन संभव हो पता है हालांकि विकास के दौर दौड़ में इंटरनेट के माध्यम से संबंधित ट्रेन आगमन प्रस्थान नेविगेशन लोकेशन इतिहास सभी जानकारियां हम अपने घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से सूचना को प्राप्त कर लेते हैं इसका परिणाम यह होता है कि समय और पैसे की बचत तथा सुरक्षित अपने गंतव्य स्थान तक निर्धारित समय पर पहुंच पाते हैं जिसमें इंटरनेट की अहम भूमिका होती है |

ऑनलाइन अर्निंग (Internet Kya Hai)

इंटरनेट का उपयोग करके वर्तमान समय में ऑनलाइन अर्निंग संभव हुआ है जिस प्रकार से लोग वेबसाइट बनाकर, ऑनलाइन सर्वे करके, एफिलिएट मार्केटिंग, ब्लॉगिंग, यूट्यूब चैनल, फेसबुक, इंस्टाग्राम, इत्यादि ऑनलाइन सोशल प्लेटफॉर्म के माध्यम से कमाई करते हैं इसके साथ-साथ और भी कई महत्वपूर्ण एप और शेयर मार्केट क्रिप्टोकरंसी इतिहास शामिल है

मनोरंजन के क्षेत्र में (Internet Kya Hai)

इंटरनेट के माध्यम व्यक्ति जो अपने कार्यों से उब जाता है तो उसे कुछ समय अपने स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए मनोरंजन का सहारा लेना चाहिए जो वास्तव में इंटरनेट के माध्यम से अपनी रुचि के अनुसार व्यक्ति अपने आपको हसन्मुखी बनता है

इंटरनेट से होने वाली हानियां (Disadvantages of internet)

समय की बर्बादी :-

  1.  जैसे की कहावतें प्राचीन काल से चली आ रही हैं सिक्के के दो पहलू होते हैं यदि एक हानि होता है तो दूसरे पर लाभ होता है, उपयोगकर्ता के हाथ में होता है वह उसका किस प्रकार से उपयोग कर रहा है एक ऑफिशियल कर्मी अपने समय का उपयोग इंटरनेट के माध्यम से ऑफीशियली वर्क के लिए यूज़ करता है जिससे इसका लाभ और प्रतिष्ठा प्राप्त करता है
  2. ठीक वहीं पर हानि वाली पहलू की बात करें तो वर्तमान समय में इंटरनेट काफी महंगा हो चुका है व्यक्ति रिचार्ज करवाने के बाद यदि उसका धनात्मक उपयोग नहीं करता है तो वह अपने समय और पैसे की बर्बादी कर चुका होता है
अश्लीलता और शोषण के शिकार :-

इंटरनेट के माध्यम से साधारण रूप से अच्छाई और बुराई दोनों एक ही साथ होती है निर्भर करता है आप किस मार्ग का अनुसरण करते हैं यदि आप कोई नया स्किल्ड सीखते हैं स्पीकिंग कोर्स करते हैं अपना करियर बनाते हैं आपका भविष्य सुनहरा हो जाता है

वहीं पर यदि आप इंटरनेट का गलत उपयोग करते हैं अश्लील वीडियो और इमेज के माध्यम से लोग अपना समय और सेहत दोनों को बर्बाद कर देते हैं इसी के साथ-साथ गलत एडवरटाइजमेंट तथा गलत सूचना को परख नहीं पाते हैं और शोषण का शिकार हो जाते हैं तो आप लोगों को सावधान रहना चाहिए और इंटरनेट के माध्यम से सिर्फ जेन्विन जानकारी को ही अपने लिए अप्लाई करना चाहिए |

इंटरनेट के माध्यम से धोखाधड़ी वह हैकिंग :-

वर्तमान समय में शायद ही ऐसा कोई अछूता व्यक्त हो जो इंटरनेट का उपयोग न करता हो हालांकि लोगों के साथ धोखाधड़ी वा हैकिंग का शिकार लोग अपनी एक छोटी सी गलती के कारण ही हो जाते हैं जिसका परिणाम यह होता है कि उनकी मेहनत की बची बचाई कमाई को आसानी से हैकर्स या धोखाधड़ी के माध्यम से लोग सेकंड में ही उड़ा लेते हैं इससे बचने के लिए आप लोग अपना सिक्योरिटी लेवल हाई क्वालिटी का रखें तथा हैकर्स से बचने के लिए किसी भी प्रकार का अननेसेसरी लिक अथवा एप्लीकेशन को इंस्टॉल ना करें |

6 thoughts on “Internet kya hai, इन्टरनेट क्या है इंटरनेट के फायदे और नुकसान विस्तार से”

Leave a Comment