ISI MARK क्या है ISI FULL FORM क्या है पूरी जानकारी हिन्दी में

ISI Mark In Hindi एक प्रकार का उत्पाद का प्रमाणिकता हाल मार्का है यह उन विशेष कंपनियों को प्रदान किया जाता है जिनका उत्पाद गुणवत्तापूर्ण और सुरक्षित होता है इसकी जानकारी के लिए भारतीय मानक संस्थान के द्वारा विशेष प्रकार की जांच की जाती है यदि उत्पादक कंपनी के द्वारा उत्पाद का सत् प्रतिशत क्वालिटी प्रोडक्ट साबित होता है तो हॉलमार्क प्रदान किया जाता है तो दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से ISI Mark क्या है ISI FULL FORM क्या है पूरी जानकारी हिन्दी में प्रदान किया जाएगा पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें

ISI MARK क्या है ISI FULL FORM क्या है पूरी जानकारी हिन्दी में
ISI MARK क्या है ISI FULL FORM क्या है पूरी जानकारी हिन्दी में

ISI क्या है और इसकी स्थापना :-

ISI Mark जिसको आधिकारिक तौर पर 1955 ईस्वी में मान्यता प्रदान किया गया, जबकि इसकी स्थापना 1जनवरी 1947 ईस्वी में किया जा चुका था और परिवर्तित नाम ISI भारतीय मानक संस्थान के नाम से जाना जाता था परंतु जनवरी 1987 ई में राष्ट्रीय मानक निकाय का नाम परिवर्तित करके भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) कर दिया गया परंतु परिवर्तित नाम का उत्पादक और उपभोक्ताओं के मध्य परिवर्तित नाम केवल दस्तावेजों तक ही सीमित रहा, पुराना नाम आईएसआई मार्क ही प्रचालन में है 

उत्पादक और उपभोक्ता के मध्य वस्तुओं की गुणवत्ता को प्रमाणित करने वाली आईएसआई मार्क Pramadit करती है कि उत्पाद उच्च क्वालिटी का है और यह हाल मार्का पूरे भारत में इस प्रकार विश्वसनीय है कि उपभोक्ताओं को बिना सोचे समझे आईएसआई मार्क वाले वस्तुओं को खरीदते हैं हालांकि वास्तविकता भी यही है ISI Mark प्रमाण पत्र उन्हें कंपनियों को प्रदान जाता है जिन कंपनियों का Products उच्च क्वालिटी और परीक्षण के दौरान सत्य प्रतिशत गुणवत्ता साबित करते हैं|

 ISI FULL FORM: What Is The Full Form Of ISI(IN HINDI)

ISI Full Form : “Indian Standard Institute” ISI Full Form In Hindi भारतीय मानक संस्थान है आईएसआई मार्क के द्वारा या निश्चित कर दिया जाता है कि प्रोडक्ट क्वालिटी 100% गुणवत्ता के साथ बेहतरीन सेफ्टी और विश्वसानिय है विशेष रूप से इलेक्ट्रॉनिक वस्तुओं पर अन्य वस्तुओं की तुलना में विशेष ध्यान देना चाहिए

ISI Mark, आईएसआई का उद्देश्य :-

वर्तमान समय में हम उपभोक्ताओं का इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जितने भी प्रोडक्ट्स पैकिंग के तौर पर हमें खरीददारी करते हैं उन सभी वस्तुओं पर आईएसआई मार्क जरूर चेक करना चाहिए इससे हमें फायदा यह होगा कि जी अच्छे वास्तु के लिए दुकानदार को पैसे देते हैं वह शतप्रतिशत गुणवत्ता वाला वस्तु हमें प्राप्त होता है या नहीं यह हम स्वयं चेक कर सकते हैं इसी मार्क के माध्यम से..

यदि आप किसी फर्म या कंपनी के माध्यम से किसी प्रोडक्ट का उत्पादन करते हैं और ISI Mark का प्रमाणपत्र प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए इंडियन स्टैंडर्ड संस्थान में एप्लीकेशन दर्ज करके प्राप्त कर सकते है या किसी आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से कर सकते है इसके बाद अपने कंपनी के द्वारा बनाए गए प्रोडक्ट को परीक्षण के लिए सबमिट करना होता है और यह प्रक्रिया Products के मार्केट में पहुंचने से पहले करना होता है ऐसा करने से बाजार में किसी भी प्रकार के प्रोडक्ट का उपभोक्ताओं के लिए विश्वास बढ़ता है

ISI हाल मार्का का लाभ :-

  • वस्तु के बेहतरीन गुणवत्ता का प्रमाण होता है
  • संबंधित वस्तु का बाजार में विश्वसनीय होता है
  • उपभोक्ता के द्वारा वास्तु के लागत और उपभोग में संतुलन स्थापित करना
  • ISI Mark वाले वस्तु का उपभोग के दौरान उपभोक्ता पर नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता है
  • आईएसआई मार्क वाला कोई भी प्रोडक्ट यदि गुणवत्ता विहीन साबित होता है तो कंपनी को सामान्य मूल पर वापस भेज दिया जाता है
  • बाजार में कारोबारी आईएसआई मार्क वाले वस्तुओं को खरीदने के लिए विश्वास दिलाने की आवश्यकता कम हो जाती है

Online Information के माध्यम Original चेक करें :-

  1. Online Information ka method सत् प्रतिशत गुणवत्तायुक्त उत्पाद चेक करने के लिए भारत सरकार के द्वारा ग्राहकों की सुविधा के लिए आधिकारिक वेबसाइट मार्क ऑनलाइन MarkOnline विजिट करके प्रोडक्ट का, लाइसेंस नंबर की पुष्टि करके आईएसआई मार्क की पूरी जानकारी हासिल कर सकते हैं |
  2. आधिकारिक वेबसाइट पर बीआइएस मार्क ऑनलाइन (BIS Mark Online) के पोर्टल पर क्लिक करने के बाद प्रोडक्ट सर्टिफिकेट पेज Product Certificate Page ओपन होगा आपको मेनू बार में 6 विकल्प दिखाई देंगे पहले विकल्प पर क्लिक करने के बाद-
  3. आपसे स्थाई व्यावरा मांगा जाएगा जैसे स्टेट नेम जिला और स्टेटस सभी को सेलेक्ट करके अंत में कैप्चा कोड फिल करने के बाद रिपोर्ट जनरेट कर सकते हैं|

ISI Mark LOGO को पहचाने :-

LOGO की कैसे करे पहचान BIS के मुताबिक “लोगो” का माप 4:3 होता है और इसके ठीक ऊपर ही प्रोडक्ट नंबर IS से प्रदर्शित किया जाता है मार्किंग के नीचे लाइसेंस नंबर CM/L (सीएमएल) के फॉर्मेट में लिखा होता है

ISI MARK क्या है ISI FULL FORM क्या है पूरी जानकारी हिन्दी में
ISI MARK क्या है ISI FULL FORM क्या है पूरी जानकारी हिन्दी में

          ये भी पढ़ें :- 5G Technology क्या है? 

ISI Mark Monastery product list (In Hindi)

ISI Mark के विषय में आप लोगों को सदैव इस बात का ध्यान रखना चाहिए की आईएसआई मार्क वाली Product को पहचान करने के बाद ही खरीदारी करें कुछ वस्तुओं का विवरण उदाहरण स्वरूप दिया गया है जैसे :-

  • घरेलू बिजली के समान
  • खाद्य और संबंधित उत्पाद
  • इस्पात और लौह उत्पाद
  • विद्युत ट्रांसफार्मर
  • विद्युत मोटर
  • कैपेसिटर (कंडेंसर)
  • रासायनिक उर्वरक
  • पॉलीमर और कपड़ा
  • ऑटोमोबाइल सहायक उपकरण
  • रसोई उपकरण
  • घरेलू वॉटर हिटर एयर कंडीशनर
  • लिक्विफाइड पेट्रोलियम गैस
  • सिलेंडर
  • घरेलू प्रेशर कुकर
  • केबल
  • एल्यूमीनियम पन्नी
  • बिजली के खिलौने 
  • सुरक्षा प्रदान करने वाली कांच की बनी हुई
  • प्लास्टिक के बोर
  • पशुओं का चारा
  • कागज, साइकिल के लिए रिफ्लेक्टर
  • सिलाई मशीन ,जल उपकरण, ड्रेनेज और सीवरेज सिस्टम के लिए पीवीसी पाइप और फिटिंग उपकरण
  • प्रेस ,टेस्ट स्क्रू  ड्राईवर टूल्स इत्यादि वस्तुएं जो व्यक्तिगत जीवन में आए दिन उपयोग के तौर पर खरीदारी किया जाता है विशेष ध्यान रखने की जरूरत है 

Conclusions :- ISI मार्क के विषय में मेरे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल आप ले लिए हेल्पफुल साबित होगा ऐसा मै आपेक्षा करता हूँ हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए खरीददारी से पहले आईएसआई मार्क जरुर चेक करें यदि ऑनलाइन आर्डर करते है तो अधिकारिक वेवसाइट https://www.bis.gov.in के माध्यम से सम्बंधित products के विषय में चेक करें “धन्यवाद “

Leave a Comment