ITI Course Details in Hindi, आईटीआई क्या है|आईटीआई का फुल फॉर्म क्या है पूरी जानकारी

पढ़ाई के दौरान प्रत्येक विद्यार्थी अपने सुनहरे भविष्य के लिए कड़ी मेहनत और निरंतर प्रयासरत रहता है, परंतु शुरुआती दौर में सही मार्गदर्शन न मिलने के कारण अभ्यर्थी अपने रुचि के अनुसार सही विषय विभाग का चयन नहीं कर पाते हैं और कुछ विशेष कारण की वजह से अपने सपने को पूरा नहीं कर पाते हैं तो दोस्तों ऐसी समस्या को दूर करने के लिए ITI Course Details in Hindi, आईटीआई क्या है|आईटीआई का फुल फॉर्म क्या है पूरी जानकारी,आईटीआई का कोर्स ड्यूरेशन (Course Duration) कितना होता है ITI full form, क्या लड़कियों के लिए 12वीं कक्षा के बाद आईटीआई कोर्स अवेलेबल होता है, आईटीआई में दाखिला किस कक्षा के बाद मिलता है इत्यादि सभी बिंदुओं पर चर्चा किया जाएगा |

ITI Course Details in Hindi, आईटीआई क्या है|आईटीआई का फुल फॉर्म क्या है पूरी जानकारी
ITI Course Details in Hindi, आईटीआई क्या है|आईटीआई का फुल फॉर्म क्या है पूरी जानकारी

ये भी पढ़े :- UP Forest Guard Recruitment 2023

ITI COURSE : ITI FULL FORM (आईटीआई फुल फॉर्म इन हिन्दी)

आईटीआई फुल फॉर्म या ITI full form in English : Industrial Training Institute (इंडस्ट्रियल ट्रेंनिंग इंस्टीट्यूट) ITI FULL FORM IN HINDI की बात कर तो इसका शाब्दिक अर्थ होता है औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान  उद्योग जगत के लिए ऐसे हुनर को विकसित किया जाता है जो एक दुसरे के पूरक तथा उपयोगी हो सकें 

इस कोर्स के दौरान शिक्षण संस्थान में विद्यार्थियों को थियोरेटिकल ज्ञान के साथ-साथ प्रैक्टिकल भी कराया जाता है ताकि अभ्यर्थियों को आगे चलकर उद्योग जगत में ड्यूटी के दौरान किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े

ITI Course Details in Hindi

  • (What Is ITI Course) आईटीआई कोर्स एक प्रकार का डिप्लोमा कोर्स है जिसके अंतर्गत अंतर्गत इंडस्ट्रियल कार्यों से संबंधित अभ्यर्थियों को प्रशिक्षण दिया जाता है इस कोर्स की अवधि (ITI Course Duration) 6 महीने से लेकर के 2 वर्ष तक होता है इस इस कोर्स का प्रारंभ आठवीं कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा के बीच पढ़ाई के दौरान प्रवेश दिया जाता है |
  • यह कोर्स चलाने का मुख्य उद्देश्य उन अभ्यार्थियों को जो हायर क्वालिफिकेशन के लिए संसाधनों के अभाव में स्कूल से नाता टूट जाता है उनके लिए यह आईटीआई कोर्स एक सुनहरा अवसर लेकर आता है कम लागत अथवा कम समय में इस कोर्स के माध्यम से अभ्यर्थियों को उद्योग जगत में आसानी से रोजगार मिल जाता है |
  • यह कोर्स विशेष प्रकार से उद्योग जगत से संबंधित होता है जिसमे अलग-अलग प्रकार की कोर्स ट्रेड होता है अभ्यर्थी अपनी रुचि के अनुसार ट्रेड का चुनाव कर सकते हैं
  • जिन अभ्यर्थियों को पढ़ाई रुचकर नहीं लगती है वह आईटीआई कोर्स के माध्यम से ऐसे ट्रेड का चुनाव कर सकते हैं जिसमें अधिकतर मायने प्रैक्टिकल की अहम भूमिका होती है प्रैक्टिकल के माध्यम से उनके अंदर प्रत्यक्ष रूप से स्किल्ड डेवलप होता है और उसी के आधार पर साक्षात्कार में उनको सरलता से जॉब्स मिल जाता है
  • इस कोर्स के कंप्लीट होने के बाद सरकारी विभाग अथवा प्राइवेट उद्योगों में रोजगार का सृजन किया जाता है जिसके माध्यम से अभ्यर्थी अपने रुचि अथवा डिप्लोमा के आधार पर इंटरव्यू के लिए अप्लाई करते हैं जैसे कुछ पोस्ट निम्नलिखित हैं इलेक्ट्रीशियन (electrician ) कॉरपोरेटर, वेल्डर, बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन, प्लंबर, इत्यादि सामान्य पोस्टों के लिए व्यक्तिगत रूप से इंटरव्यू के लिए तैयार करते हैं
  • कुछ विशेष नामी कॉलेजों में कोर्स कंप्लीट होने के बाद ही कुछ कंपनियां हायरिंग के लिए कॉलेज में ही अभ्यर्थियों का चयन प्रकरण पूरा करती हैं

Eligibility for ITI Course in Hindi (आईटीआई कोर्स की योग्यताएं)

  • आईटीआई में प्रवेश के लिए अभ्यर्थी के पास निम्नलिखित योग्यताओं के साथ आयु अथवा निम्नलिखित मनको पूरा होना चाहिए
  • आईटीआई मैं प्रवेश के लिए विद्यार्थी आठवीं कक्षा के बाद कुछ विशेष कड़ियों के साथ आगे बढ़ता है तथा इस दौरान दसवीं कक्षा पास करना अनिवार्य होता है और इसके अंतर्गत कुछ ऐसे कोर्स भी अवेलेबल होते हैं जिसके अंतर्गत प्रवेश लेने के लिए अभ्यर्थी का 12वीं कक्षा पास होना अनिवार्य होता है |
  • यदि आयु की बात करें आठवीं कक्षा के समक्ष विद्यार्थी का 14 वर्ष से कम उम्र नहीं होनी चाहिए तथा विद्यार्थी या तो 12वीं कक्षा उत्तीर्ण कर चुका है और उसकी आयु कम से कम 17 वर्ष होनी चाहिए इसके साथ ही आईटीआई में प्रवेश लेने के लिए विद्यार्थी की अधिकतम आयु शैली वर्ष 40 वर्ष से अधिक नहीं होना चाहिए
  • आईटीआई में प्रवेश के लिए एंट्रेंस एग्जाम करवाई जाती है जिसके माध्यम से प्रवेश मिलना मिलता है हालांकि कुछ कॉलेजों में सीधे तौर पर दाखिला मिल जाती है

ITI COURSE DURATION आईटीआई कोर्स कितने महीने का होता है

  • यदि आईटीआई के कोर्स डिप्लोमा की बात करें तो 6 माह से लेकर के 2 वर्ष तक का समय लगता है इस दौरान कोर्स पर निर्भर करता है कि आपका डिप्लोमा 6 महीने का है या 9 महीने में पूर्ण कराया जायेगा
  • कुछ कोर्स 12 महीने तथा कुछ (ITI course duration) ऐसे भी हैं जो 18 महीने में कंप्लीट होते हैं और कुछ ट्रेड वाइज (best ITI course) ऐसे भी होते हैं जो 2 वर्ष में पूर्ण होते हैं
  • निष्कर्ष रूप से कह सकते हैं कि आईटीआई कोर्स के अंतर्गत 100 से भी अधिक प्रकार के कोर्सेज अवेलेबल हैं और यह कोर्स पर निर्भर करता है कि आपका कोर्स (ITI course)कितने समय अवधि में कंप्लीट होगा |

ये भी पढ़ें :- नेटवर्क क्या है 

ITI COURSE Fees Details आईटीआई डिप्लोमा कोर्स की फीस कितनी होती है

आईटीआई कोर्स डिप्लोमा की बात करें तो एक प्रकार का स्किल्ड है और इसके लिए फीस नाममात्र ही होती है यदि आपको एंट्रेंस एग्जाम के बाद सरकारी स्कूल में प्रवेश मिल जाता है तो आपका फीस न्यूनतम होता है तथा व्यक्तिगत स्कूल कॉलेज में फीस सरकारी कालेज के तुलना में अधिक होता है… ? 

Best ITI Colleges in Uttar Pradesh (UP)

भारत के उत्तर प्रदेश में आईटीआई के नामी कॉलेज का नाम दिया गया है सरकारी College में दाखिले के लिए इंट्रेंस एक्साम्स पास करना अनिवार्य होता है तत्पच्यात आप को निम्लिखित कालेजो में मौका मिलता है 

  • Govt. ITI College – Aliganj, Lucknow
  • Govt. ITI College -Kirundi, Varanasi
  • Govt. ITI College – Agra
  • Govt. ITI College -Gorakhpur
  • Govt. ITI College- Aligarh
  • Govt. ITI College – Etowah
  • Govt. ITI College – Jhansi
  • Govt. ITI College – Pandu Nagar, Kanpur
  • Govt. ITI College – Saket, Meerut
  • Govt. ITI College – Sitapur

TYPES OF ITI COURSE (आईटीआई कोर्स के प्रकार)

विद्यार्थियों को आईटीआई में प्रवेश लेने से पहले कुछ विशेष बातों की जानकारी अवश्य होनी चाहिए, आईटीआई कोर्स कितने प्रकार के होते हैं तथा अपनी रुचि के अनुसार ट्रेड का चयन करना चाहिए जो की मुख्यतः दो वर्गों में विभाजित किया गया है :-

  1. Engineering trade (इंजीनियरिंग ट्रेड)
  2. Non – Engineering trade (नाॅन इंजीनियरिंग ट्रेड)

1. Engineering trade (इंजीनियरिंग ट्रेड)

इंजीनियरिंग ट्रेड के अंतर्गत आईटीआई कोर्स के निम्नलिखित कोर्स कराए जाते हैं जो इस प्रकार है –

  1. टेलीविजन मिस्त्री (TV Mechanic)
  2. रेडियो मिस्त्री(Radio Mechanic)
  3. ग्राइंडर मिस्त्री (Mechanist Grinder)
  4. फ्रिज और एसी का मिस्त्री (Mechanic Ref. and Air Conditioning)
  5. इलेक्ट्रॉनिक मिस्त्री (Electronic Mechanic)
  6. रेडियोलॉजी मकैनिक (Radiology Mechanic)
  7. सूचना प्रौद्योगिकी सेक्टर (Information Technology Sector)
  8. सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology)
  9. ड्राफ्ट्समैन सिविल (Draughtsman Civil)
  10. इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम मेंटेनेंस (Electronic system Maintenance)
  11. ड्राफ्ट्समैन मैकेनिकल (Draughtsman Mechanical)
  12. बिजली मिस्त्री (Electrician)
  13. सर्वेक्षक (Surveyor)
  14. बिजली क्षेत्र Electricals sector)
  15. उत्पादन और निर्माण क्षेत्र (Production and Manufacture Sector)
  16. टर्नर (Turner)
  17. वास्तु सहायक (Architectural Assistant)
  18. ऑटो इलेक्ट्रिशियन (Auto Electrician)
  19. ऑटो इलेक्ट्रिशियन (Auto Electrician)
  20. इंटीरियर डिजाइन और सजावट (Interior Designing and Decoration)
  21. प्लास्टिक प्रोसेसिंग ऑपरेटर (Plastic Processing Operator)
  22. ऑटोमोबाइल सेक्टर (Automobiles Sector)
  23. बढ़ई (Carpenter)
  24. मकैनिक ट्रैक्टर (Mechanic Tractor)
  25. प्लंबर (Plumber)
  26. फिटर (Fitter)
  27. वायरमैन (Wire Man)
  28. मकैनिक (Mechanist)
  29. ऑटोमेटिक बॉडी रिपेयर (Automotive Body Repair)
  30. आटोमोटिव पेंट मरम्मत (Automotive Paint Repair)

  • नॉन इंजीनियरिंग ट्रेड के अंतर्गत वह सभी स्किल्ड डेवलप कराये जाते हैं जो इंजीनियरिंग ट्रेड से अलग होते हैं जैसे –
  1. संसाधन व्यक्ति (Resource Person)
  2. सुई का काम (Needle Work)
  3. बाल और त्वचा की देखभाल (Hair and Skincare)
  4. डेस्कटॉप पब्लिशिंग ऑपरेटर (Desktop Publishing Operator)
  5. वाणिज्यिक कला (Commercial Arts)
  6. कंप्यूटर ऑपरेटर और प्रोग्रामिंग (Computer Operator and Programming)
  7. असिस्टेंट (Assistant)
  8. फैशन डिजाइनिंग (Fashion Designing)
  9. पोशाक बनाना (Dress Making)
  10. स्वास्थ्य निरीक्षक (Health Inspector)
  11. खाद्य उत्पादन (Food Production)
  12. फोटोग्राफी (Photography)
  13. सचिवीय अभ्यास (Secretarial Practice)
  14. टेक्सटाइल डिजाइनिंग  (Textile Designing)
  15. कंप्यूटर ऑपरेटर के रूप में कार्यालय सहायक (Office Assistant in Computer Operator)
  16. काटना और सिलाई (Cutting and Sewing)
  17. अस्पताल हाउस कीपिंग (Hospital House Keeping)
  18. कृषि प्रसंस्करण (Argo-Processing)

Best ITI Course after 12th ( 12वीं कक्षा पास करने के बाद बेहतरीन आईटीआई कोर्स)

आईटीआई डिप्लोमा 2 वर्ष के अंतर्गत कुछ ऐसे भी बेहतरीन कोर्स होते हैं (which ITI course is best for high salary) जिस कोर्स को कंप्लीट करने के बाद जब के लिए कुछ कंपनियां कॉलेज में ही हायरिंग के लिए कैंपेनिंग करती हैं जैसे :- 

  • मानव संसाधन कार्यकारी (Human Resource Executive)
  • नेटवर्क टेक्नीशियन (Network Technician)
  • बालों और त्वचा की देखभाल (Hair and Skin Care)
  • इंटीरियर डिजाइनर (Interior Designer)
  • बिजली मिस्त्री (Electrician)
  • खानपान और आतिथ्य सहायक (Catering and Hospitality Assistants)
  • समुद्री फिटर (Marine Fitter)
  • वास्तु कला ड्राफ्ट्समैनशिप (Architectural Draughtsmanship)
  • विपणन कार्यकारी (Marketing Executive)
  • कॉल केंद्र सहायक (Call Centre Assistance)
  • स्टेनोग्राफी (Stenography)
  • कंप्यूटर हार्डवेयर और नेटवर्किंग (Computer Hardware and Networking)
  • दंत प्रयोगशाला उपकरण टेक्नीशियन (Dental Laboratory Equipment Technician)
  • पेंटर (Painter)

Jobs after ITI Course in Hindi (आईटीआई कोर्स होने के बाद नौकरी)

पूरे भारत में ITI डिप्लोमा कोर्स पूर्ण करने के बाद अभ्यर्थी को आसानी से जॉब्स मिल जाता है जैसे :-फ्रिज और एसी मिस्त्री, प्लंबर, राजमिस्त्री, पेंटर, कंप्यूटर ऑपरेटर, सिलाई बुनाई, सर्वेयर, इंटीरियर डिजाइनर और सजावट, स्टेनोग्राफर, हलवाई, मोटर वाहन मिस्त्री, गैस और इलेक्ट्रिक वेल्डर, बढ़ई, बिजली मिस्त्री, टीवी मिस्त्री,

ITI STARTING SALARY (आईटीआई डिप्लोमा धाराक की सैलरी)

आईटीआई फील्ड में दिलचस्पी रखने वाले विद्यार्थी यदि अच्छे ट्रेड से डिप्लोमा कोर्स पूर्ण करते हैं तो उद्योगजगत की कंपनियां ऐसे अभ्यर्थियों के लिए जॉब्स के मार्ग खोल देती हैं जिसके अंतर्गत आईटीआई डिप्लोमा धारक की शुरुआती सैलरी 15000 से 25000 के मध्य होती है और बाद में परफॉर्मेंस के आधार पर प्रमोशन तथा सैलरी में प्रत्येक वर्ष कुल सैलरी का 3-6 % वृद्धि किया जाता है हालांकि गवर्नमेंट एक्ट के तहत कंपनियां सैलरी को लेकर और भी नियमावलियों को पूर्ण करती हैं जिसके अंतर्गत एक अनुभवी एम्पलाई की सैलरी आगे चलकर ₹100000 महीने से भी अधिक हो सकती है तथा वह कंपनी में अच्छे पद की दावेदारी अपने कार्य अनुभव के अनुसार से हासिल कर सकता है

  1. यह भी पढ़े :- होटल मैनेजमेंट कोर्स क्या है 
  2. यह भी पढ़े :- MBA Course Details
  3. यह भी पढ़े :-आईटीआई क्या है और विस्तार से पढ़ें 
  4. यह भी पढ़े :- IIT क्या है विस्तृत जानकारी के लिए क्लिक करें 

5 thoughts on “ITI Course Details in Hindi, आईटीआई क्या है|आईटीआई का फुल फॉर्म क्या है पूरी जानकारी”

Leave a Comment